राजनीति के रिंग में मैनी

अगले महीने फिलीपींस में होने जा रहे राष्ट्रपति चुनावों में वर्तमान राष्ट्रपति रोड्रिगो दुलेर्ते अब उपराष्ट्रपति पद के लिए मुकाबला करते नजर आएंगे. उन्हें यह फैसला, देश में लागू उस नियम के चलते करना पड़ा है, जिसके मुताबिक फिलीपींस में कोई भी व्यक्ति दो साल से अधिक राष्ट्रपति पद पर नहीं रह सकता. रोड्रिगो ने ड्रग माफिया के खिलाफ जबरदस्त मुहिम चलाई थी. लेकिन, अब तक उनकी लोकप्रियता का ग्राफ काफी नीचे आ चुका है.

Image courtesy: Wikipedia

इस समय चैंपियन बॉक्सर मैनी पैकियाओ, जिन्होंने पिछले साल सितंबर में इस खेल से संन्यास लेने का ऐलान किया था, इस पद के सबसे मजबूत दावेदार के रूप में उभर कर सामने आए हैं. प्रशंसकों में पैकमैन के नाम से जाने जाने वाले मैनी प्रोफेशनल ही नहीं, बल्कि रीयल लाइफ में भी एक फाइटर ही रहे हैं. क्योंकि 14 साल की उम्र से उनका जीवन, कामयाबी हासिल करने तक विपरीत हालातों से लड़ते हुए ही बीता है.

बारह बार विश्व चैंपियन रहे, 42 वर्षीय मैनी का बॉक्सिंग कैरियर 26 साल लंबा रहा है. उन्होंने अपने कैरियर में 72 फाइट लड़ीं, जिनमें 62 में जीत दर्ज की. उन्हें सिर्फआठ मकाबलों में हार का सामना करना पड़ा. 62 जीतों में मैनी ने 39 नॉक आउट मुकाबले जीते, जबकि 23 फाइट निर्णय के जरिए जीतने में सफल रहे. लेकिन पिछले साल, 21 अगस्त को जब वे दो वर्ष से अधिक अंतराल के बाद पैराडाइज नेवादा में क्यूबा के मुक्केबाज यॉर्डेनिस उगास के खिलाफ पहली बार रिंग में उतरे तो तो उगास ने डब्ल्यूबीए वेल्टरवेट खिताब को बरकार रखते हुए पैक्युओ को हरा दिया. इस हार के एक माह बाद ही उन्होंने खेल से संन्यास लेने की घोषणा कर दी थी.

द नेशनल फिस्ट के नाम से विख्यात मैनी एक समय वर्तमान राष्ट्रपति रोड्रिगो के करीबी सहयोगियों में शामिल थे, लेकिन बाद में जब मैनी ने रोड्रिगो के चीन के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों और सरकार में भ्रष्टाचार की आलोचना की तो उनके राजनीतिक संबंधों में खटास आ गई. मैनी ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत 2007 में की थी. उन्होंने 2010 में कांग्रेस के निचले सदन में दक्षिणी सारंगनी का प्रतिनिधित्व करते हुए एक सीट जीती और फिर 2016 में ऊपरी सदन में उन्हें छह साल के लिए चुना गया. पिछले साल संन्यास लेने की घोषणा से करीब एक महीना पहले ही उन्होंने अपनी राजनीतिक पार्टी का नामांकन कराया था.

  • संदीप अग्रवाल

Add Comment