सिंगल यूज प्लास्टिक पर बैन जुलाई से

प्लास्टिक कचरे से निपटने के लिए सरकार ने पॉलीस्टाइनिन और एक्सपेंडेड पॉलीस्टाइनिन सहित विभिन्न सिंगल-यूज प्लास्टिक वस्तुओं के उपयोग पर एक जुलाई से प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है.

इसके अंतर्गत, प्लास्टिक के झंडे, प्लास्टिक स्टिक वाली इयरबड, आइसक्रीम स्टिक, गुब्बारों के लिए प्लास्टिक डंडी, सजावट के लिए पॉलीस्टाइरिन (धर्माकोल), प्लेट, कप-प्लेट सहित, गिलास, कांटे, चम्मच, चाकू, स्ट्रॉ, ट्रे, मिठाई के डिब्बों को लपेटने या पैकिंग की प्लास्टिक फिल्म, निमंत्रण कार्ड और सिगरेट के पैकेट, 100 माइक्रॉन से कम मोटाई वाली प्लास्टिक या पीवीसी बेनर व स्ट्रिप जैसी कम उपयोगिता और ज्यादा कचरा बढ़ाने वाली चीजों के उत्पादन, आयात, स्टॉकिंग, वितरण, बिक्री और उपयोग आदि हर तरह की गतिविधि पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा. इसके अलावा प्लास्टिक कचरा कम करने के लिए 31 दिसंबर, 2022 से केवल 120 माइक्रॉन की मोटाई के कैरी बैग के इस्तेमाल की अनुमति देने का निर्णय ​लिया गया है.

प्लास्टिक मुक्त थाईलैंड

इससे भी एक कदम आगे बढ़ते हुए, थाईलैंड सरकार ने इस साल के अंत तक देश को प्लास्टिक से मुक्ति दिलाने के लिए कमर कस ली है. इसके लिए एकल-उपयोग वाले प्लास्टिक बैग पर पूर्ण प्रतिबंध लागू किया जा चुका है और स्टायरोफोम, कप और सभी तरह के प्लास्टिक उत्पाद भी इसी राह पर हैं.

सरकार की है कि 2022 खत्म होने तक तक 36 माइक्रोन से अधिक मोटे, पॉलीस्टायरीन खाद्य कंटेनर, प्लास्टिक कप और प्लास्टिक के तिनके से हल्के प्लास्टिक पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया जाए.

थाईलैंड सरकार के ऐसा करने के पीछे वजह यह है कि देश में प्लास्टिक प्रदूषण अपने खतरनाक स्तर पर पहुँच गया है. लोग के पानी से लेकर नमक तक में प्लास्टिक घुला हुआ है. जल में रहने वाले एक लाख से अधिक जीव—जंतु हर साल प्लास्टिक प्रदूषण की भेंट चढ़ रहे हैं.

Add Comment