Saturday, May 25th, 2024

GJWA

ग्‍लोबल जर्नलिस्‍ट्स एंड राइटर्स  एसोसिएशन

(Click here for English)
(प्रोत्साहन-प्रशिक्षण और संरक्षण)
ग्‍लोबल जर्नलिस्‍ट्स एंड राइटर्स  एसोसिएशन  की आवश्यकता क्यों है ?
आर एन आई पर उपलब्ध पंजीकृत समाचार प्रकाशनों की संख्या के अनुसार देश में लगभग एक लाख पत्र—पत्रिकाएं हैं, इसके अलावा 650 से अधिक समाचार चैनल और हजारों की संख्या में समाचार पोर्टल और एप्प होंगे. इस लिहाज से माना जा सकता कि देश भर में पत्रकारिता कर रहे व्यक्तियों की संख्या दस लाख से अधिक होगी. इनमें ज्‍यादातर असंगठित क्षेत्र से संबंधित हैं और अल्‍पावधि अनुबंध के आधार पर काम करते हुए अनिश्चितता के वातावरण में जीवनयापन करने के लिए विवश हैं.
इस बात को ध्यान में रखते हुए यह आवश्यक है कि एक ऐसी संस्था हो जो करोड़ों पाठकों की आवाज को अभिव्यक्ति देने वाले इन पत्रकारों की आवाज बने. ग्‍लोबल जर्नलिस्‍ट एंड राइटर्स  एसोसिएशन  एक ऐसी ही पहल है जिसके गठन के उद्देश्यों, एसोसिएशन की संरचना और सदस्यता की पात्रता आदि से संबंधित विवरण आगे के पृष्ठों में प्रस्तुत किया जा रहा है.

उद्देश्य

1. निरंतर अपनी चमक व प्रभाव खोती जा रही मौजूदा पत्रकारिता को प्रतिष्ठा, गरिमा व विश्वसनीयता प्रदान करना.
2. पत्रकारिता व लेखन से अपनी आजीविका अर्जित कर रहे व्यक्तियों के जीवन स्तर को परिष्कृत करना.
3. स्वस्थ व सकारात्मक पत्रकारिता को प्रोत्साहन देना.
4. नए दौर की पत्रकारिता को विश्व स्तरीय बनाना
5. नए पत्रकारों को समाज व जनता के हित में काम करने के लिए प्रोत्साहित व प्रशिक्षित करना.
6. पत्रकारों के लिए भावनात्मक, आर्थिक व शारीरिक सुरक्षा की व्यवस्था करना और कार्यस्‍थल पर किसी अप्रिय घटना की स्थिति‍ में उनके आश्रितों की सहायता करना.
7. मीडिया में आने के इच्छुक व्यक्तियों / प्रशिक्षुओं के लिए गुणवत्ता प्रशिक्षण / राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा की व्यवस्था करना, ताकि मीडिया संस्थानों को अधिक दक्ष, जिम्मेदार व योग्य कार्य बल मिल सके.
8. पत्रकारिता के माध्यम से आम जन में राष्ट्रीयता / सामुदायिकता की भावना व पर्यावरण तथा मानवीय मूल्यों के प्रति जागरूकता उत्पन्न करना.

9. आम लोगों के लिए लिटरेसी, कम्‍प्‍यूटर लिटरेसी आदि की तरह मीडिया लिटरेसी वर्कशॉप्‍स का आयोजन, ताकि वे एक जिम्‍मेदार सिटीजन जर्नलिस्‍ट बनकर, देश, समाज और जनता के हित में काम करने के लिए प्रेरित व प्रशिक्षित हो सकें.

10. शौकिया अथवा व्‍यावसायिक लेखन के इच्‍छुक प्रतिभाशाली व्‍यक्तियों को प्रशिक्षण, प्रोत्‍साहन, मार्गदर्शन व प्रिंट व डिजिटल प्रकाशन के अवसर प्रदान करना.

कार्यक्रम व योजनाएं


1. अधिक से अधिक पत्रकारों व लेखकों को संगठन से जोड़ना. इसके लिए व्यक्तिगत सम्पर्क व सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया जाएगा.
2. एक ऐसा कार्यालय बनाना, जहाँ पर एसोसिएशन की गतिविधियों का संचालन किया जा सके.
3 सदस्यों के लिए निःशुल्क चिकित्सा जाँच/परामर्श शिविरों अन्य जरूरी सुविधाओं जैसे पासपोर्ट, लाइसेंस आदि शिविरों का आयोजन
4. सदस्यों के लिए निःशुल्क मनोचिकित्सक, परामर्श शिविर का नियमित अंतराल से आयोजन ताकि पत्रकारों के तनाव व अवसाद को खतरनाक स्तर पर पहुंचने से पहले नियंबित किया जा सके.
5. सदस्यों के लिए ऐसी कार्यशालाओं का आयोजन, जिसमें वे अपने काम में और अधिक दक्ष व अपडेट हो सकें.
6. नियमित अंतराल से अलग-अलग क्षेत्रों के एक्सपर्ट के साथ संवाद कार्यक्रमों का आयोजन
7. सदस्यों के लिए वर्ष में दो बार  राष्ट्रीय स्तर की दक्षता परीक्षा का आयोजन जिसमें उत्तीर्ण होने पर उन्हें एक प्रमाणपत्र दिया जाएगा जो उन्हें कार्य़क्षेत्र में पदोन्नति व रोजगार के बेहतर अवसर पाने में मदद करेगा.
8. संगठन के पोर्टल / एप का आरंग, जिसके माध्यम से सदस्य एक— दूसरे के साथ सहायता व मार्गदर्शन का आदान-प्रदान कर सकेंगे.
9. संगठन की ओर से एक पत्रिका, न्यूज पोर्टल / एप्प का आरंभ, जिसमें सकारात्मकता को बढ़ाने वाले समाचार व लेख आदि होंगे. इसके माध्यम से पत्रकारिता प्रशिक्षण लेकर आए नवोदितों को इन्टर्नशिप के अवसर भी प्रदान किए जाएंगे.
10. पत्रकार बनने के इच्छुक युवाओं के लिए पत्रकारिता प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों/ शिविरों का आयोजन.
11. फंड रेजिंग के उद्देश्य से साल भर से कम से कम दो बड़े कार्यक्रमों का आयोजन
12. वर्ष में दो बार सदस्यों के लिए एक दिवसीय या सप्ताहांत पिकनिक का आयोजन, जहाँ वे तरोताजा हो सकें.
13. एक डिजीटल लाइब्रेरी की स्थापना जिसमें लेखन, मीडिया और पत्रकारिता पर आधारित पुस्तकों की उपलब्धता होगी.
14.साल में दो बार ज्वलंत विषयों पर फेलोशिप देना.
15. मीडिया लैब की स्थापना, जहॉं ऑन डिमांड सभी प्रकार की मीडिया संबंधी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी.

 

संगठन की संरचना

संरक्षक / मार्गदर्शक (1)

मानद सदस्य (10-15)
संस्थापक सदस्य (20)

सदस्यता शुल्क : 2100/-

सामान्य सदस्य (असीमित)

वार्षिक सदस्यता शुल्क : (500/-)

आजीवन सदस्‍यता शुल्‍क: 1100/-
पंजीकृत मुख्यालय:  नागपुर (महाराष्ट्र)
क्षेत्रीय कार्यालय: संबंधित राज्य की राजधानी अथवा कोई प्रमुख शहर. राज्य की जनसंख्या के आधार पर एक से अधिक कार्यालयों के गठन पर भी विचार किया जा सकता है. इसे जिला स्तर तक भी विस्तारित किया जा सकता है.

 

पद / दायित्व

1- अध्यक्ष
2. कार्यकारी अध्यक्ष/उपाध्‍यक्ष
3. महासचिव
4. संयुक्त सचिव
5. सचिव
6. कोषाध्यक्ष

 

प्रभारी

7. इवेंट प्रभारी
8. प्रभारी—जनसम्पर्क

9. प्रभारी—नवांकुर सेल (नए पत्रकार)
10. प्रभारी—ऑनलाइन मीडिया सेल
11. प्रभारी— फंडरेजिंग
12. प्रभारी— परिचालन / प्रशासन
13. प्रभारी— विदेशी हिंदी मीडियाकर्मी
14. प्रभारी—प्रकाशन
15. प्रभारी—टीवी मीडिया सेल
16. प्रभारी— महिला पत्रकार सेल

17. प्रभारी— शिकायत व सुझाव

कार्यकारिणी का गठन

1. एसोसिएशन की स्थापना का दायित्व निर्वहन करने वाले प्रथम बीस सदस्य, एसोसिएशन के संस्थापक सदस्य होंगे. कार्यकारिणी का गठन इन्हीं में से, योग्यता, अनुभव व एसोसिएशन को दिए गए योगदान के आधार पर कुछ सदस्यों को लेकर किया जाएगा.
2. प्रथम कार्यकारिणी का कार्यकाल तीन साल के लिए होगा इसके बाद सभी पदाधिकारियों को मतदान द्वारा चुना जाएगा.
3. अलग- अलग सेल के प्रभारियों की नियुक्ति नवगठित कार्यकारिणी के पदाधिकारियों द्वारा की जाएगी.
4. प्रत्येक कार्यकारिणी का कार्यकाल तीन वर्ष के लिए होगा.
5. कार्यकारिणी चुनाव में सिर्फ संस्थापक सदस्य ही नामांकन/उम्मीदवारी प्रस्तुत कर सकेंगे.
6. सामान्य सदस्यों को मतदान का अधिकार प्रदान किया जाएगा
7. संस्थापक सदस्यों की संख्या 20 तक सीमित रहेगी. लेकिन, अपवाद स्थिति में सामान्य सदस्यों की वरिष्ठता / योग्यता / उपलब्धियों के आधार पर उन्हें संस्थापक सदस्य का दर्जा दिया जा सकता है. इसका निर्णय कार्यकारिणी की सहमति से ही किया जाएगा.
8. एसोसिएशन का स्वरूप राजनीतिक, वैचारिक, धार्मिक, जातीय व भाषाई तथा लैंगिक रूप से तटस्थ संस्था का होगा, जिसमें सभी भाषा, वर्ग व विचारधाराओं के पत्रकार व लेखक शामिल हो सकेंगे. लेकिन किसी को भी अपने विचार दूसरों पर थोपने की अनुमति नहीं होगी.
9. एसोसिएशन के कार्यों पर विचार के लिए हर माह और विस्तृत समीक्षा के लिए एक सालाना बैठक आयोजित की जाएगी.

 

एसोसिएशन के व्यय व परिसम्पत्तियाँ
1. संगठन के प्रशासनिक / आयोजनों/ विस्तार व कार्यालयीन व्यय के लिए धनराशि का संग्रह सदस्यता शुल्क, संस्थागत /व्यक्तिगत अनुदान, विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों के लिए लिये जाने शुल्क, फंड रेजिंग इंवेंट्स के आयोजनों द्वारा किया जाएगा.
2. एसोसिएशन समय-समय पर ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन कर सकता है, जिनके लिए स्पॉन्सर्ड / एडवर्टाइजर्स मिलते हैं. इससे एसोसिएशन की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी.
3. आवश्यकता पड़ने पर एसोसिएशन अन्य सामाजिक / व्यावसायिक संस्थाओं से आर्थिक सहयोग / अनुदान ले सकता है, जो भारत के संवैधानिक ढांचे के अंतर्गत कार्य करती है.

कौन सामान्य सदस्य बन सकता है ?

- ऐसे व्यक्ति, जो किसी प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान से कम से कम दो वर्षों से नियमित / अनुबंधित पत्रकार / संपादक अथवा कॉपीराइटर के रूप में जुड़े हुए हैं.
— ऐसे फ्रीलांसर जो कम से कम पाँच वर्षों से स्वतंत्र पत्रकारिता कर रहे हैं और आवदेन से पहले के एक वर्ष में कम से कम दस रचनाएं / समाचार उनके नाम से प्रकाशित हो चुके हैं. बायलाइन न होने ही स्थिति में उन्हें अपने अखबार के सम्पादक की ओर से जारी पत्र प्रस्तुत करना होगा कि आवेदक उसके प्रकाशन के लिए काम करते हैं.
— ऐसे संपादक / पत्रकार जो स्‍वयं ही किसी समाचार पत्र-पत्रिका का प्रकाशन / संपादन संबंधित कार्य करते हैं.
—ऐसे व्यक्ति, जो विदेशों में प्रकाशित होने वाले  पत्र-पत्रिकाओं से लेखक / सम्पादक / संवाददाता के रूप में जुड़े हैं.
— ऐसे जनसम्पर्क (पीआर) प्रोफेशनल, जो किसी सरकारी/ गैरसरकारी संस्थान से नियमितकर्मी के रूप मे सम्बद्ध हैं.
— ऐसे लेखक, जिनकी पिछले तीन वर्षों में कम से कम एक किताब या पॉंच कहानियॉं/कविताएं किसी प्रकाशन में छप चुकी हैं.

नोट: इसमें समाचार पोर्टल/ एप्प/ न्यूज चैनलों के काम करने वाले पत्रकार व स्वतंत्र लेखक भी शामिल रहेंगे.

सदस्य बनने के लिए नियम व शर्तें:

(प्रथम 20 संस्थापक सदस्यों के द्वारा संगठन बनाने के बाद शामिल होने वाले पत्रकारों के लिए)

1.आवेदन करते समय प्रत्येक सदस्य को अपने पत्रकार/लेखक होने का प्रमाण (संपादक का पत्र / प्रकाशित रचनाओं की प्रतियाँ / प्रेस कार्ड की फोटो कॉपी) जमा करानी होगी.
2. प्रमाणपत्र प्रस्तुत न कर पाने की स्थिति में उसे एक संस्थापक सदस्य का अनुमोदन पत्र संलग्न करना होगा.
3. आवेदन के साथ दो चित्रों सहित आयु / आवासीय पते का प्रमाणपत्र (आधार / ड्राइविंग लाइसेंस / वोटर कार्ड/पासपोर्ट की फोटो कोपी) जमा कराना आवश्यक है.
4. सामान्‍य सदस्‍यों के लिए वार्षिक  सदस्‍यता शुल्‍क 500/- है.
5. आवेदन की तिथि के समय आवेदक को आयु कम से कम 18 वर्ष होना आवश्यक है.
6. सदस्यता स्वीकृत होने पर उसे संगठन की ओर से सदस्यता प्रमाणपत्र प्रदान किया जाएगा.
7. संगठन विरोधी/समाज विरोधी/राष्ट्र विरोधी या किसी भी प्रकार की आपराधिक गतिविधि में लिप्तता पाए जाने पर सदस्यता तत्काल प्रभाव से रद्द कर दी जाएगी.
8. सदस्यता रद्द होने पर सदस्यता शुल्क वापस नहीं किया जाएगा.
9. असंवैधानिक / अनैतिक आचरण पर रद्द की गई सदस्यता की पुर्नबहाली नहीं की जाएगी. अपवाद स्थिति में कार्यकारिणी इस पर विचार कर समुचित निर्णय ले सकती है.
10. सदस्यों को संगठन के नियमों का अनुशासन व निष्ठा के साथ पालन करना होगा.
11. सदस्यता अहस्तांतरणीय होगी.
12. सदस्यों का परिचय मात्र एक क्यू आर कोड के जरिए ग्‍लोबल जर्नलिस्‍ट एंड राइटर्स  एसोसिएशन  के पोर्टल से जुड़ा होगा, ताकि फेक/ डुप्लीकेट मेंबरशिप को रोका जा सके.
13. एसोसिएशन की ओर से सदस्यों को प्रदत्त सुविधाएं पात्रता व 'पहले आओ पहले पाओ' के आधार पर उपलब्ध कराई जाएंगी. आपात / विशेष परिस्थिति में इस नियम में शिथिलता बरती जा सकती है, बशर्ते कार्यकारिणी इस पर सहमत हो.

अगर आप उपरोक्‍त सभी बातों से सहमत हैं तो सदस्‍य बनने के लिए यहॉं  क्लिक करें. 

( यह एक प्रस्‍तावित मसौदा है. परिस्थितियों के हिसाब से इसमें बदलाव किया जा सकता है. )